होम कर्नाटक इस्तीफा देने के बाद रो पड़े येदुरप्पा, बोले बार-बार देनी पड़...

इस्तीफा देने के बाद रो पड़े येदुरप्पा, बोले बार-बार देनी पड़ रही है अग्नि परीक्षा

455
0
Karnataka Governor Thawar Chand Gehlot accepts CM BS Yediyurappa's resignation, asks him to continue as caretaker CM till the next CM takes oath. Twitter/ANI

बीएस येदुरप्पा इस्तीफा देते वक्त रो पड़े येदुरप्पा बाहर आकर पत्रकारों से बातचीत करने के दौरान उन्होंने कहा बार-बार की अग्नि परीक्षा देनी पड़ रही है।

इससे पहले कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर संशय बरकरार रहने के बीच मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने रविवार को कहा था कि वो इस पद पर बने रहेंगे या नहीं, कल तक पता चल जाएगा.

 

बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा राज्यपाल थावर चंद गहलोत को राजभवन में सौंपा। येदियुरप्पा ने अपनी सरकार के 2 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम में कहा, “मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है। मैं दोपहर के भोजन के बाद राज्यपाल से मिलूंगा।”

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी जल्द ही कर्नाटक में पर्यवेक्षक भेजेगी. इस बीच बीएस येदियुरप्पा कार्यवाहक सीएम बने रहेंगे. केंद्रीय पार्टी नेतृत्व और राज्य पार्टी नेतृत्व सीएम पद के लिए अगले चेहरे पर चर्चा करेंगे. वहीं इस्तीफे के ऐलान के बाद बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि पिछले दो सालों से राज्य की सेवा करना मेरे लिए सम्मान की बात है. मैंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में इस्तीफा देने का फैसला किया है. मैं विनम्र हूं और राज्य के लोगों को उनकी सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं. वहीं येदियुरप्पा के इस्तीफे पर कर्नाटक के मंत्री के सुधाकर ने कहा कि ये मेरे लिए आश्चर्य की बात थी. उन्होंने मुझसे कहा कि 26 जुलाई तक उन्हें हाईकमान से अनुकूल फैसला मिल सकता है, लेकिन हम सभी को पार्टी के नियमों का पालन करना होगा. वो केवल सीएम पद छोड़ रहे हैं, सक्रिय राजनीति नहीं.

इससे पहले कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर संशय बरकरार रहने के बीच मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने रविवार को कहा था कि वो इस पद पर बने रहेंगे या नहीं, कल तक पता चल जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वो अगले 10 से 15 साल तक भारतीय जनता पार्टी के लिए काम करना जारी रखेंगे. कर्नाटक के सबसे प्रभावशाली लिंगायत नेता और राज्य में दो दशक से बीजेपी का चेहरा रहे 78 साल के येदियुरप्पा ने ये भी कहा था कि उन्हें अब तक केंद्रीय नेतृत्व से ‘संदेश ’ नहीं मिला है कि इस पद पर बने रहना है या हटना है. उन्होंने भरोसा जताते हुए संकेत दिया था कि सोमवार सुबह तक इस संबंध में जानकारी मिल सकती है.

दो महीने पहले ही इस्तीफे की पेशकश कर दी थी- येदियुरप्पा 

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बताया कि उन्होंने दो महीने पहले ही इस्तीफे की पेशकश कर दी थी और दोहराया कि अगर पार्टी नेतृत्व की इच्छा रही तो वो मुख्यमंत्री पद पर बने रहेंगे और अगर उन्हें ये पद छोड़ने को कहा गया तो इस्तीफा देंगे और पार्टी का काम करेंगे. उन्होंने कहा कि मैं अगले 10 से 15 साल तक दिन-रात पार्टी के लिए काम करूंगा. इस बारे में कोई आशंका नहीं होनी चाहिए.

मुझे पार्टी में ज्यादातर पद मिले जो कर्नाटक में किसी और को नहीं मिले- येदियुरप्पा 

साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे पार्टी में ज्यादातर पद मिले जो कर्नाटक में किसी और को नहीं मिले, इसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा का आभार व्यक्त करता हूं. लिंगायत नेता येदियुरप्पा ने कहा कि उनका ”एकमात्र लक्ष्य” अगले दो सालों तक कड़ी मेहनत करना और कर्नाटक में बीजेपी को सत्ता में वापस लाना है. येदियुरप्पा ने बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि के इस बयान से सहमति जताई कि बीजेपी में हर कोई एक साधारण पार्टी कार्यकर्ता है और उसे पार्टी के निर्देशों का पालन करना चाहिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें