होम विदेश कोरोना नियंत्रण में फेल होने पर इस्तीफा देंगे जापान के प्रधानमंत्री सुगा।

कोरोना नियंत्रण में फेल होने पर इस्तीफा देंगे जापान के प्रधानमंत्री सुगा।

267
0
Photo: Getty images

योशिहिदे सुगा कार्यालय में सिर्फ एक साल के बाद जापानी प्रधानमंत्री के रूप में पद छोड़ देंगे,  जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने कहा है कि वह सत्तारूढ़ पार्टी के नेता के तौर पर इस महीने होने वाले री-इलेक्शन में अपनी उम्मीदवारी पेश नहीं करेंगे. इससे संकेत मिलते हैं कि सितंबर अंत तक वह जापानी पीएम के तौर पर इस्तीफा दे सकते हैं. ठीक एक साल पहले शिंजो आबे (Shinzo Abe) के इस्तीफे के बाद सुगा को प्रधानमंत्री के तौर पर नियुक्त किया गया था. योशिहिदे सुगा का पार्टी लीडर न बनने की इच्छा जाहिर करना उनकी गिरती अप्रूवल रेटिंग के बीच आया है.

सुगा, जिनकी लोकप्रियता कोविड-19 के प्रकोप पर लगाम लगाने में विफल रहने के बाद गिर गई, उन्होंने शुक्रवार को घोषणा की कि वह सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए इस महीने के री-इलेक्शन में फिर से चुनाव नहीं लड़ेंगे। उस री-इलेक्शन की जीत की उम्मीदवारी 30 नवंबर तक होने वाले आम चुनाव में पार्टी का नेतृत्व करेगा।

कोरोना से निपटने पर ध्यान देंगे सुगा

कोरोना से निपटने के लिए तेजी से कार्रवाई ना करने और जन स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के बावजूद ओलंपिक आयोजित करने को लेकर सुगा की देश में काफी आलोचना की जा रही है. जापान में फिलहाल आपातकाल लागू है. देश में 15 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और वैक्सीनेशन की रफ्तार भी काफी धीमी है. कोरोना से बिगड़े हालातों के बीच ओलंपिक गेम्स का आयोजन करना लोगों के बीच खासा अनपॉपुलर रहा.

AFP की एक रिपोर्ट के अनुसार, सुगा की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (LDP) के महासचिव ने कहा, ‘आज कार्यकारी बैठक के दौरान सुगा ने कहा है कि वह कोरोना से निपटने वाले उपायों के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और वह इस महीने पार्टी नेतृत्व के लिए होने वाले चुनावों में हिस्सा नहीं लेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘मैं इस फैसले से हैरान हूं. उन्होंने अच्छा काम किया, लेकिन उन्होंने अपना फैसला कर लिया है.’


सुगा ने कहा मैंने छोड़ने पर विचार किया, क्यूंकि इसके लिए कोरोनोवायरस उपायों के साथ-साथ चुनाव अभियान के लिए बहुत अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है। मैं दोनों नहीं कर सकता। मुझे कोविड-19 उपायों पर ध्यान देना चाहिए”।

 विश्लेषकों (Analysts) ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के तहत स्थिरता की लंबी अवधि के बाद सुगा के बाहर निकलने से जापानी राजनीति के लिए अनिश्चितता और उथल-पुथल का एक और युग शुरू हो जाएगा, जिन्होंने एक साल पहले ही स्वास्थ्य के आधार पर कदम रखा था।

एक राजनीतिक विश्लेषक और अकादमिक मासातोशी होंडा ने कहा, “हम एक संक्रमण काल ​​​​में प्रवेश करेंगे।” “यह कुछ समय होगा जब तक हम एक और लंबे समय तक चलने वाले प्रशासन को नहीं देखते हैं जिसका नेतृत्व एक व्यक्ति या समूह द्वारा किया जाता है।”

जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा की अप्रूवल रेटिंग रिकॉर्ड स्तर पर गिर गई हैं. Nikkei के हालिया पोल के मुताबिक, सुगा कैबिनेट की अप्रूवल रेटिंग सबसे कम 34 फीसदी पर है,  जिससे यह चिंता बढ़ गई है कि LDP को एक कठिन आम चुनाव का सामना करना पड़ेगा, देश के कई बड़े शहरों में अभी भी आपातकाल की स्थिति है।

जब टोक्यो ओलंपिक के बाद प्रीमियर की पोल रेटिंग ठीक नहीं हुई, तो उनका प्रभाव कम होने लगा। पूर्व विदेश मंत्री फूमियो किशिदा सहित तेजी से शक्तिशाली प्रतिद्वंद्वियों ने नेतृत्व की चुनौतियों का शुभारंभ किया।

पार्टी के चुनाव 29 सितंबर को होने की संभावना है।

ओलंपिक खेलों का विवाद

महामारी के कारण चल रहे स्वास्थ्य आपातकाल के बावजूद, टोक्यो ओलंपिक की मेजबानी के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लेने के बाद सुगा को तीव्र घरेलू आलोचना का सामना करना पड़ा था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें