होम वीडियो खट्टर सरकार ने जीता विश्वास मत लेकिन खड़े हो गए बहुत सारे...

खट्टर सरकार ने जीता विश्वास मत लेकिन खड़े हो गए बहुत सारे सवाल।

खट्टर सरकार ने जीता विश्वास मत लेकिन खड़े हो गए बहुत सारे सवाल।

आज 10 मार्च को हरियाणा मे खट्टर सरकार के खिलाफ कांग्रेस द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। मनोहर लाल खट्टर हरियाणा में सरकार बचाने में तो कामयाब हो गए, लेकिन इसके साथ बहुत सारे सवाल भी खड़े हो गए।

जिस तरीके से 1 दिन पहले मनोहर लाल खट्टर का सदन में रोने वाला वीडियो वायरल हुआ और किसानों की हित की बात की उससे वह सभी चेहरे बेनकाब हो गए जो किसानों के हितैषी बना करते थे।

हरियाणा में कुल 90 सीटें हैं फिलहाल 2 सीटें खाली हुए बहुमत के लिए 45 सीटें चाहिए होती है आज क्लोज टेस्ट के बाद एनडीए के खेमे में 50 सीटें और कांग्रेस के खेमे में 30 सीटें रही।

सदन में वोटिंग के दौरान 55 विधायकों ने भाजपा और जजपा के समर्थन में मतदान दिया। वहीं दूसरी तरफ 32 विधायकों ने सरकार के खिलाफ मतदान किया। फ्लोर टेस्ट के बाद साफ हो गया खट्टर सरकार हरियाणा में बनी राहेगी।

मनोहर लाल खट्टर अविश्वास प्रस्ताव के अभिभाषण में कहा कि कांग्रेस पार्टी को सभी चीजों पर विश्वास हो जाता है, कभी इन्हे EVM पर अविश्वास होता है, तो कभी सेना पर अविश्वास हो जाता है, अब सत्ता पर ही अविश्वास बढ़ गया है। आलोचना करना अच्छे विपक्ष का काम है, मैं कहता हूं अगर हर 6 महीने में कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लाती रहे, इससे हमें ताकत मिलेगी।

टिकरी बॉर्डर पर है कृषि कानूनों के खिलाफ में बैठे किसानों का गुस्सा साफ तौर से देखा जा सकता है, उनका यही कहना है की खट्टर भले ही आज सरकार बचा लिए लेकिन आने वाले समय में उनकी सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है।

हरियाणा के किसानों का गुस्सा साफ तौर पर दुष्यंत चौटाला और जेजेपी के विधायकों के ऊपर देखा जा सकता है। उनका कहना है दुष्यंत चौटाला बीजेपी के खिलाफ और किसानों के मुद्दे पर वोट मांगके सत्ता में आए थे, लेकिन किसानों की हित के बारे में बिल्कुल नहीं सोच रहे है। आने वाले समय में हरियाणा की जनता दुष्यंत चौटाला और मनोहर लाल खट्टर को जवाब देगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें