होम हेल्थ टिप्स महिलाएं सिर्फ तीन बार ये योग करें सेहत में पाएंगे बड़ा बदलाव

महिलाएं सिर्फ तीन बार ये योग करें सेहत में पाएंगे बड़ा बदलाव

महिलाओं में कार्य करने की स्वाभाविक प्रकृति होती है और कभी-कभी इस से बहुत अधिक तनाव और चिंता उत्पन्न हो जाती है चाहे आप काम करने वाले प्रोफेशनल हो या हाउसवाइफ योग तनाव दूर करने का एक आदर्श साधन है

योग के अभ्यास के लिए सप्ताह में कम से कम 3 बार 30 40 मिनट के लिए प्रतिबद्ध  रहें और कई स्वास्थ्य लाभों का अनुभव करें

आइए देखते हैं हमें कौन-कौन से योग करनी चाहिए

धनुरासन

पेट के बल लेटकर शुरुआत करें

घुटनों को मोड़े और टखनों को हथेलियों से पकड़े

पैरों और  बाहों को जितना हो सके ऊपर उठाएं

ऊपर देखें और कुछ देर के लिए इस आसन में  रहे

धनुरासन के लाभ

पाचन तंत्र ठीक होने के साथ ही  अजीर्ण  और पेट के विकास की दूर होते हैं पेट का मोटापा कम करने के लिए यह आसन बहुत अच्छा है जिन लोगों को ज्यादा भूख लगती है या भूखी नहीं लगती है उन्हें भी इस आसन के अभ्यास से फायदा पहुंचता है महिलाओं में मासिक धर्म की अनियमितता दूर होती है

 

अनमोल -विलोम प्राणायाम

ध्यान के आसन में बैठे

बाय नासिका से सास धीरे-धीरे भीतर कीजिए

सास  यथाशक्ति रोकने  के पश्चात  दाई ओर से सांस छोड़  दे
दाईं नासिका से सांस खींचे

सांस रोकने के बाद स्वर से सांस धीरे-धीरे निकाल दे

जींस स्वर से सांस छोड़ें उस स्वर से सांस लें और यथाशक्ति अंदर रोककर रखें

क्रिया सावधानीपूर्वक करें जल्दबाजी न करें

अनमोल -अनमोल के लाभ

शरीर की संपूर्ण नस गाड़ियां शुद्ध होती हैं

शरीर तेजस्वी और फुर्तीला बनता है

भूख बढ़ती है

रक्त शुद्ध होता है

सावधानी
नाक पर उंगलियों को रखते समय उसे इतना  न दबाएं  नाक की स्थिति टेढ़ी हो जाए

सास को धीरे-धीरे ले

कुंभक को अधिक समय तक न रखें

कपालभाति प्राणायाम

कपालभाति प्राणायाम का अर्थ है मस्तिक की आभा को बढ़ाने बाली क्रिया

इस प्राणायाम की स्थिति  ठीक भस्त्रिका के ही समान होती है परंतु इस प्राणायाम में रेचक सास  की शक्ति पूर्वक बाहर छोड़ने में जोड़ दिया जाता है

सांस लेने में जोर न देकर छोड़ने में ज्यादा केंद्रित किया जाता है

कपालभाति प्राणायाम में पेट के पिचकारी पिचका आने  और  फुलाने में जोड़ दिया जाता है
इस परिणाम को यथाशक्ति अधिक से अधिक करें

लाभ
हृदय फेफड़े मस्तिक के रोग दूर होते हैं कफ दमा सांस रोगों में लाभदायक है
मोटापा मधुमेह कब्ज एवं  पित्त के रोग दूर होते हैं

योग मुद्रासन

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें